कार के शीशे पे काली बिंदियां क्यों? Frit Marks

कई बार आपने कार मैं बैठे बैठे ये सोचा होगा के जो सामने शीशे क किनारो पे ये काले रंग की बिंदियां सी है, ये क्यों है? इन काली बिंदियों की एक कहानी है दोस्तों।
ये काली बिंदिया दरअसल एक केमिकल है और इसे Frit कहते है। Frit गिलास क किनारो पे इसलिए लगाया जाता है ताकि किनारे गाडी की फ्रेम से चिपक सके। न सिर्फ ये, बल्कि यही फरित पेंट उस चिपके हुए हिस्से को धुप से भी बचाता है। धुप से बचाव के कारण विंड शील्ड सालो साल चिपकी हुई रहती है चाहे आप गाडी धुप मई रखे या छाँव में।

Frit black dots car glass

इसे गाडी के अंदर लगे रियर व्यू मिरर के पास भी लगाया जाता है। वहाँ इसका काम है के ये आने वाली धुप को कम कर दे। इसके कारण न सिर्फ ड्राइवर या पैसंजर धुप की तेज़ किरण का सामना एकदम से करने से बच पाते हैं, बल्कि रियर व्यू मिरर भी काफी हद तक कम गरम होता है।

ये Frit एक अच्छी पकड़ और धूप से बचाने के साथ कार में सुन्दरता का काम भी करते हैं। अगर एक काली पट्टी को शीशे के चारों ओर लगा दे तो दिखने में अजीब लगता है। तो पट्टी के साथ साथ ढेर सारी बिंदिया भी लगाई जाती है ताकि एक faded लुक आ जाएँ और पता न लगे की कहा काली पट्टी खतम हुई और पारदर्शी शीशा शुरु हुआ।
है ना कमाल की बिंदिया।

 

3 COMMENTS

  1. sir alto 800 lxi jo ki 45000kms and 2014 model hai , usme check engine ka yellow indicator aataa hai , service centre wale kahte hain ki iske emmission sensor and catalytic converter change karna padega @ 18000INR, kya karu?

Leave a Reply