कैसे मिलेगा बढ़िया माइलेज। जरूर पढ़ें

अधिकांश लोग अपनी गाडी से एक अच्छे माइलेज की उम्मीद करते हैं और करें भी क्यों ना, पैसे पेड़ पर थोड़े ही उगते हैं। जब कोई गाड़ी खरीदता है तो वह यह जरूर देखता है की उस गाड़ी का माइलेज उसकी जेब के दायरे में आता है या नहीं। चलो अब गाडी भी खरीद ली और चलाने भी लगे, लेकिन पता पड़ा की बार बार फ्यूल स्टेशन के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। जेब ढीली होने लगी है। और शक होने लगा है की गाडी का माइलेज ख़राब है। जो कंपनी ने कहा वो मिल ही नहीं रहा।

हाँ ये सच बात है कि कोई भी किसी भी गाड़ी का सही माइलेज नहीं बता सकता। कंपनी जो माइलेज दिखती है गाड़ियों का वह मानक परिस्थितियों में निकाल कर बनाती है। लेकिन हर किसी की परिस्तिथि एक जैसी नहीं होती। कोई पहाड़ों में रहता है , कोई गांव में , कोई भीड़भाड़ वाले शहरों में, कोई अभी अभी सीखा है गाडी चलना, तो किसी को तेज गाड़ी चलाने की आदत है। तो परिस्थितिओं में अंतर होने से माइलेज में भी अंतर पड़ता है।

परिस्थियाँ चाहे कैसी भी हो, परिस्थिति के अनुसार गाड़ी से अच्छा माइलेज कहीं पर भी निकल सकता है। जरूरी नहीं की आपको बहुत बढ़िया मिलेगा लेकिन हाँ जितना आप अभी ले रहे हैं उससे अच्छा ही मिलेगा। यहाँ पर कुछ तरीके बताये जाएंगे जो आपकी गाड़ी के माइलेज को बढ़ाने में काफी मददगार साबित होंगे

तो आइये देखते हैं कैसे बढ़ाया जा सकता है माइलेज। और हम सारे पहलुओं को नज़र में रखेंगे चाहे वो ड्राइविंग से हों या गाड़ी के रखरखाव से।

टायर में रखें सही हवा :-

जी हाँ बराबर मात्रा में हवा Rolling Resistance कम करती है जिससे इंजन को ज्यादा जोर नहीं लगाना पड़ता और इससे माइलेज में सुधार आता है। एक आदत बना लीजिये जब भी आप अपनी गाड़ी में फ्यूल डलवाते हैं तो साथ ही हवा भी चेक करवानी चाहिए, यह आदत आपके लिए फायदेमंद रहेगी।

क्लच पेडल में पैर रखकर गाड़ी ना चलाएं :-

गियर लगाने के बाद तुरंत अपना पैर क्लच पेडल से हटा लें। अगर क्लच पर पैर रहेगा तो क्लच ठीक से Flywheel के साथ जुड़ नहीं पायेगा जिससे इंजन की पूरी ताकत गाड़ी के पहियों को नहीं मिल पायेगी जिससे ईंधन की बर्बादी होगी।

साथ ही क्लच पेडल में सही फ्री प्ले होना भी जरूरी है। क्या है क्लच पैडल का फ्री प्ले जानने के लिए ये वीडियो देखें।

सही गियर का चयन भी जरूरी है।

मैन्युअल ट्रांसमिशन कार का सबसे बड़ा झंझट है गियर बदलना, पर सही ताकत और माइलेज के लिए जरुरत के हिसाब से सही गियर लगना चाहिए। 5 गियर वाली गाड़ी में स्पीड के हिसाब से यह गियर लगा होना चाहिए।

0-15 kmpl :- 1st Gear
15-25 kmpl :- 2nd Gear
25-40 kmpl :- 3rd Gear
40-60 kmpl :- 4th Gear
above 60 kmpl :- 5th Gear

Note :- हो सकता है आपकी गाड़ी की Owner Manual में इन नम्बरों में अंतर हो, लेकिन आमतौर में सभी गाड़ियों में आप इसे लगा सकते हैं।

सही गियर का चयन कैसे करें, इस विषय पर वीडियो देखें।

समय पर करवाएं सर्विस

सही समय पर सर्विस करवाना भी बहुत जरूरी है जिससे आपकी गाडी हमेशा फिट रहती है। तो इससे भी आपकी गाड़ी का माइलेज बरक़रार रहता है। तो निर्धारित समय पर सर्विस करवाना ना भूलें।

गाड़ी को स्मूथ तरीके से चलाएं

गाड़ी चलाते समय उसे एकदम से ना भगाएं, उसकी रफ़्तार धीरे धीरे बढ़ाएं। एकदम से गाड़ी भगाने पर ईंधन की ज्यादा खपत होती है। और ना ही एकदम से ब्रेक मारें। अगर आपको लगता है कि आगे रास्ते में कोई बाधा है तो पहले ही accelerator पेडल से अपना पैर हटा लें। कई लोगों की एकदम से ब्रेक मरने की आदत होती है जिससे ईंधन बर्बाद होता है।

गाड़ी ज्यादा देर तक स्टार्ट न रखें

बहुत से लोग सोचते हैं ” क्या फर्क पड़ता है “, लेकिन ये सोचना बिल्कुल गलत है। अगर आपको 40 सेकंड से ज्यादा रुकना है तो अपनी गाडी को बंद करने में ही भलाई है। इससे प्रदूषण भी कम होता है।

ज्यादा तेज गति भी ईंधन बर्बाद करती है

जी हाँ बिलकुल सही बात है। एक सीमा के बाद तेज गति भी ईंधन को बर्बाद करती है। जो इंजन पर तनाव पैदा करती है। तो आप अगर अपने टॉप गियर में 60 से 70 kmph की स्पीड से गाडी चलाते हैं तो इस स्पीड में सबसे अच्छा माइलेज आपको मिलता है।

ये तरीके मामूली से लगते है लेकिन सच पूछिए इनसे आपकी गाड़ी के माइलेज मैं काफी अंतर आता है। और ऐसा भी नहीं है की माइलेज काम होने के सिर्फ यही कारण हो सकते हैं, और भी बहुत से कारण है माइलेज काम होने के।

तो आप इन सबका पालन करेंगे तो जरूर आपको अंतर दिखाई देगा।

कैसे अपनी ड्राइविंग में सुधार करके आप माइलेज बढ़ा सकते हैं, ये वीडियो जरूर देखें।

7 COMMENTS

Leave a Reply