क्या और क्यों जरुरी है – ABS and EBD ?

जब बात होती है कारो की तो Airbags, ABS with EBD आदि कई safety फीचर्स सुनने को मिलते है। Airbags तो शायद अब सब ही जानते है पर कुछ ही लोग समझते है कि आखिर ABS और EBD है क्या चीज़।

तो आइये जानते है क्या और क्यों है जरूरी ABS और EBD आपकी गाड़ियों में!

क्या है ABS ?

ABS का मतलब Antilock Braking System है। जैसाकि नाम से ही साफ़ है ABS, braking के दौरान wheels को lock होने से रोकता है ताकि wheels & road surface के beech ट्रैक्शन(traction) बना रहे जिससे की आपकी गाडी skid(स्लिप) न करे।

Mostly non-ABS vehicles में बारिश के दौरान braking से गाडी स्लिप हो जाती है। साथ ही अगर आप high speed, sand surface या पानी से भरी रोड आदि किसी जगह पर गाडी चला रहे है तब भी आपको vehicle out of control & steering lock हो जाता है। इन्ही सब चीज़ो को रोकता है ABS व आपकी driving को और safe बनाता है।

कैसे काम करता है ABS ?

ABS के mainly 4 components होते है – Speed Sensors, ECU/Controller & Modular Valves.

Speed Sensors :- Speed sensors के 2 parts होते है Exicter & Pickup                                                                Exicter एक ring shaped(रिंग के आकर की) part होता है जिस पर teeth/grooves                              बने होते है।  Pickup एक wirecoil/magnet assembly होती है जो की exicter के                                  pickup के सामने से गुजरने पर एक pulse/signal जनरेट कर उसे controller तक                                    भेजता है।

ECU/Controller :- Speed sensors से generated signals से controller, vehicle स्पीड और स्लिप                                  (skid) का पता लगता है।

Modular Valves :- प्राप्त signals के अनुरूप controller, modular braking valves को कण्ट्रोल करता है।

यह complete process बहुत तेज़ी से होता है (15times in a second) और आपके सफर को सुरक्षित बनाये रखता है।

Braking with Antilock braking System
Braking with Antilock braking System

 

EBD(Electronic Brakeforce Distribution)

EBD भी एक safe braking system है। इसे ABS का sub-system कहना भी गलत नहीं होगा। EBD-system गाडी की speed, road condition को sense कर प्रत्येक wheel पर लगने वाले braking force को control करता है व stable and controlled driving condition बनाये रखने के साथ braking distance भी कम करता है। ब्रैकिंग फाॅर्स आगे के tyres पर ज्यादा व पीछे के टायर्स पर कम लगता है परन्तु हर condition में ऐसा नहीं होता।

Less Stopping distance with EBD
Less Stopping distance with EBD

ABS with EBD के फायदे |Advanatges|

  • Braking के दौरान vehicle under-control रहता है, directional stability(दिशा स्थिरता) बानी रहती है व ड्राइवर steering से अपना control नहीं खोता।
  • braking force ऑटोमेटिकली change होता है जिससे अच्छी braking performace मिलती है।
  • ABS, maximum braking pressure में भी wheel को घूमने में मदद करता है। जिससे wheel, lock नहीं होता व skiding नहीं होती।
  • Better cornering
  • Emergency braking के कारण होने वाले accidents को कम करता है।
  • braking distance को कम करता है।

तो अगली बार जब आप नई कार/बाइक ले तो जरूर ध्यान रहे ABS and EBD की safety के लिए कितनी जरुरी है।

Leave a Reply