निसान खोलेगा भारत में पहला डिजिटल केंद्र। मिलेगा 500 लोगो को रोजगार का अवसर भी।

जापानी ऑटोमेकर निसान मोटर्स जल्द ही भारत के केरल राज्य में पहला डिजिटल हब/केंद्र स्तापित करने जा रहा है। निसान मोटर्स ने इस हेतु कल दिनांक 29 जून को भारत में डिजिटल संचालन के लिए केरल सरकार के साथ समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए है।

डिजिटल केंद्र का उद्देश्य :-

  • यह डिजिटल केंद्र निसान को ऑटोमोटिव उद्योग में अपनी ग्राहकों के सुखद अनुभव को बढ़ने, नए प्रोडक्ट्स डेवलपमेंट, कनेक्टिविटी व सुरक्षा से जुड़े ऑटोमोटिव क्षेत्र में सहयोग करेगा।
  • यह निसान के वर्तमान मैन्युफैक्चरिंग और इंजीनियरिंग क्षमताओं के डिजिटलीकरण पर ध्यान केंद्रित करेगा। और ग्राहक अनुभव को अगले स्तर पर ले जाने का कार्य करेगा।
  • चूँकि वैश्विक स्तर पर ऑटोनोमस (Autonomous) व इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग निरंतर बढ़ रहा है ऐसे में डिजिटल हब, निसान को बेहतर सर्विस मुहैया करवाने में मदद करेगा। साथ ही यह भारत और अन्य वैश्विक बाजारों में निसान की डिजिटल क्षमताओं को मजबूत करने के लिए “इन-हाउस सेवाओं” की एक श्रृंखला प्रदान करेगा।

ये भी पढ़े – Nissan Leaf इसी साल होगी भारत में लांच।

साथ ही आपको बता दे केरल राज्य के त्रिवेंद्रम में स्थापित होने वाले इस केंद्र हेतु निसान वर्तमान वित्तीय वर्ष के अंत तक 500 या अधिक कर्मचारियों की भर्ती भी करेगा।

कंपनी के मुख्य सूचना अधिकारी टोनी थॉमस ने कहा , ”हम इस नए जमाने की डिजीटल क्षमता के लिए अपनी टीम बना रहे हैं। हमारा मानना है कि तकनीकी और कौशल के परिपेक्ष्य में भारत हमारे लिए बड़ा बाजार है।उन्होंने कहा कि वाहन उद्योग में हो रही बदलाव के लिए इस तरह की नए जमाने की क्षमताएं स्थापित करना जरूरी है।”

साथ ही पढ़े – Nissan Kicks Launch Details, features, Specifications..

जानकारी के लिए बता दे Nissan की अपनी पार्टनर कंपनी Renault के साथ चेन्नई के पास 4.8 लाख वाहनों की वार्षिक मनुफक्चरिंग क्षमता वाला प्लांट है। इसके अतिरिक्त निसान व रीनॉल्ट का चेन्नई में चेन्नई में वैश्विक अनुसंधान एवं विकास केंद्र (R&D Centre) भी स्थापित है। जहा वाहन और प्रौद्योगिकी विकास सहित कई परियोजनाओं पर लगे 7,000 इंजीनियरों को रोजगार मिलता है। 

जरूर पढ़े निसान के अफ्रीका, मध्य पूर्व और भारत में विस्तार योजनाओं के बारे में

निसान ने की अफ्रीका, मध्य पूर्व और भारत में विस्तार योजनाओं की घोषणा

 

 

Leave a Reply