मारुती उतारेगी WagonR को अपनी पहले इलेक्ट्रिक कार के रूप में।

इलेक्ट्रिक वाहनों के विकल्प की बढ़ती इस दौड़ में जहा सभी कम्पनिया अपने EVs की घोषणा कर रही है, ऐसे में देश की सबसे बड़ी कार निर्माता मारुती सुजुकी कैसे पीछे रह सकती है। EV की इस रेस में अब मारुती ने भी अपनी WagonR के इलेक्ट्रिक वर्ज़न को उतरने का फैसला कर लिया है।

एक खबर के अनुसार मारुती जल्दी ही अपनी हैचबैक WagonR का इलेक्ट्रिक वर्ज़न 2020 तक भारत में उतार सकता है। जिसे मारुती टोयोटा के साथ किये गए एक समझौते के तहत विकसित करेगा।

WagonR के इलेक्ट्रिक वर्ज़न को एक नए प्लेटफार्म पर बनाया जाएगा, जो की मौजूदा WagonR से हल्का व मजबूत भी होगा। साथ ही नई wagonR के एक्सटेरियर व इंटीरियर में बी बदलाव किया जाएगा। हलाकि wagonR की टॉलबॉय वाली छवि को बरक़रार रखा जाएगा। कॉस्मेटिक बदलाव के साथ इसमें कई सेफ्टी सुरक्षा फीचर्स को भी wagonR  परिचित करवाया जाएगा जो की मौजूदा wagonR में नहीं आते है। व ABS,EBD व ड्यूल airbags को स्टैण्डर्ड रखा जाएगा।

साथ ही पढ़े –  जानिए क्या है टोयोटा – सुजुकी समझौता।

क्यों खास है मारुती का इलेक्ट्रिक सेगेमेंट में कदम ?

  • मारुती भारत की सबसे बड़ी कार निर्माता है, जिसकी मार्किट में पकड़ सबसे अधिक है। अतः ऐसे में मारुती का इलेक्ट्रिक सेगमेंट में कदम रखना भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों के ट्रेंड को शुरू करने वाला हो सकता है।
  • मारुती के सबसे वाइड नेटवर्क इलेक्ट्रिक वाहनों को अधिक से अधिक लोगो तक पहुंचने का कम बखूबी से कर सकता है।
  • मारुती की कारो को जन-जन की कार माना जाता है ऐसे में मारुती की EVs भी आम जन की कार बनने का भारत सरकार का सपना पूरा करने में मुख्य रोल अदा कर सकता है।
  • बड़ी कम्पनिया जैसे रीनॉल्ट, टेस्ला, हौंडा आदि यूरोप, चीन, जापान व अन्य कई देशो में अपने EVs का निर्माण करते है ऐसे में मारुती का EV सेगमेंट में उतरना, उनके लिए भी भारत में EV सेगमेंट में कदम रखने को आसान बना सकता है।

साथ ही पढ़े – Maruti Suzuki ने बनाया नया रिकॉर्ड, 2 करोड़ यूनिट्स उत्पादन के आंकड़े को किया पार।

 

Leave a Reply