Car Insurance Guide, आखिर क्यों जरुरी है?

मोटर व्हीकल एक्ट 1988 के तहत आप बिना insurance के गाड़ी शोरूम से बहार नहीं निकाल सकते। यह एक कानूनन जुर्म है। अब इसका मतलब ये नहीं की car insurance सिर्फ पुलिस वालों से या चालान से बचने के लिए करवाना चाहिए। आइये जानते है क्यों insurance का इतना महत्व है।

  • दुर्घटना में गाड़ी में होने वाले नुकसान जिनकी मरम्मत में काफी खर्चा आता है। insurance से उस नुकसान की भरपाई हो जाती है।
  • आपकी गाड़ी से किसी और की संपत्ति, गाड़ी में नुकसान या जान जाने पर insurance उसकी भरपाई करता है।
  • दुर्भाग्यवश दुर्घटना में चालक की मृत्यु हो जाती है तो भी insurance उसके परिवार को आर्थिक मदद देता है।

Car Insurance के प्रकार

Insurance के मुख्यतः दो प्रकार होते हैं:-

  1. थर्ड पार्टी इन्शुरन्स (Third Party Insurance)
  2. कम्प्रेहैन्सिव इन्शुरन्स (Comprehensive Insurance)

Third Party Insurance/Third Party Liability :-

इसमें आपके द्वारा किसी दुसरे व्यक्ति की गाड़ी, संपत्ति या जान का नुकसान होता है तो आपकी Insurance Company सिर्फ तीसरे बन्दे के नुकसान की भरपाई करेगी। अगर आपकी गाड़ी में इससे कोई नुकसान होता है तो उसका आपको कुछ नहीं मिलेगा। और आपकी गाड़ी में चालक की दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है तो उस स्थिति में उसके परिवार को आर्थिक मदद मिलती है।

Comprehensive Insurance :-

इसमें आपको थर्ड पार्टी की सारी सुविधाओं के साथ साथ आपकी गाड़ी के नुकसान का कवरेज भी मिलता है। इसमें आपको थोड़े पैसे ज्यादा देने पड़ते हैं। लेकिन इसकी कुछ सीमाएं है। आपके नुकसान की भरपाई कुछ इस प्रकार होगी।

  1. प्लास्टिक पार्ट पर आपको 50 % मिलेगा
  2. शीशे पर 100 % मिलेगा
  3. मेटल पार्ट पर हर साल 5 % घटता जाएगा। उदाहरण के तौर पर आप अगर दुसरे साल अपनी गाड़ी पर insurance claim लेते हैं तो आपको 10 % घटाकर पैसा मिलेगा यानि मेटल पर 90 % मिलेगा
  4. Consumable जैसे Engine Oil, Sealant, Rubber Grommet और nut bolt जैसी चीज़ों का खर्चा आपको ही देना पड़ेगा
  5. पेंट का 50 % मिलेगा
  6. Airbag 50 %
  7. लेबर चार्ज आपको नहीं देना पड़ता है।

इस insurance को आप साल में जितनी बार भी आप चाहें क्लेम कर सकते हैं। इसे क्लेम करते समय आपको कुछ मूल्य (file charges) अदा करना पड़ता है।

  1. अगर आपकी गाड़ी 1500 cc से कम है तो 1000 रुपये।
  2. अगर आपकी गाड़ी 1500 cc या उससे ज्यादा की है तो 2000 रुपये।

Zero Dept Insurance/Zero Depreciation Insurance  :-

यह भी Comprehensive Insurance ही है लेकिन इसमें आप Add-On या एक सुविधा अलग से ले लेते हैं जिसको Zero Depth बोला जाता है इसमें आपकी थोड़ी सी प्रीमियम बढ़ जाती है और बदले में आपको सरे पार्ट्स का 100 % कवर मिल जाता है। इसमें आपके नुकसान की भरपाई कुछ इस प्रकार होगी।

  • प्लास्टिक पार्ट पर आपको 100 % मिलेगा।
  • शीशे पर 100 % मिलेगा।
  • मेटल पार्ट पर 100 %
  • Consumable जैसे Engine Oil, Sealant, Rubber Grommet और nut bolt जैसी चीज़ों का खर्चा आपको ही देना पड़ेगा। अगर आप इनका भी खर्चा नहीं देना चाहते हैं तो आपको Add-on खरीदना पड़ेगा जिसमे आपकी थोड़ी सी प्रीमियम बढ़ जाएगी। कई इन्शुरन्स कंपनी ये Add-on मुफ्त में देती है।
  • पेंट का 100 % मिलेगा।
  • Airbag 100 %
  • लेबर चार्ज आपको नहीं देना पड़ता है।

इस insurance को आप नयी गाड़ी खरीदने के 5 साल तक ले सकते हैं और ये साल में सिर्फ 2 बार क्लेम कर सकते हैं। इसे क्लेम करते समय आपको कुछ मूल्य (file charges) अदा करना पड़ता है।

  • अगर आपकी गाड़ी 1500 cc से कम है तो 1000 रुपये।
  • अगर आपकी गाड़ी 1500 cc या उससे ज्यादा की है तो 2000 रुपये।

 

और भी Add-on आप ले सकते हैं जैसे

  • Engine Protection :-
    बाढ़ के दौरान पानी में गाड़ी चलाने से इंजन ख़राब हो जाता है जोकि insurance में कवर नहीं होता। आप अलग से Add-on लेकर अपनी गाड़ी के इंजन को भी insurance में कवर करा सकते हैं।
  • Road Side Assistance :-
    यह सुविधा तब काम आती है जब कहीं दूर आपकी गाड़ी खराब हो जाए जैसे टायर पंक्चर हो जाना, ईंधन खत्म हो जाना या कोई दुर्घटना हो जाना। इस सुविधा से आप बीच रास्ते मे मदद ले सकते हैं । इमरजेंसी में आपको इसमे होटल और टैक्सी की सुविधा भी मिल जाती है।
  • Return to Invoice :-
    अगर किसी हादसे में आपकी गाड़ी पूरी क्षतिग्रस्त हो जाती है या फिर चोरी हो जाती है तो आपको आपकी गाड़ी का पूरा का पूरा Billing Amount मिल जाता है । उसमें Registration Charge और Insurance Amount भी आपको पूरा का पूरा मिल जाता है। लेकिन आप सिर्फ इसे गाड़ी लेने के 3 साल तक ले सकते हैं।

इन परिस्तिथियों में आपको Car Insurance क्लेम नहीं मिलेगा।

  • यदि आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस ना हो तो।
  • शराब पीकर गाड़ी चलाने पर।
  • जानबूझकर किए गए नुकसान पर।
  • गैर कानूनी कार्य के लिए वाहन का इस्तेमाल करने पर।
  • निर्धारित सीमा से अधिक सवारी या वजन ले जाने पर।

5 COMMENTS

  1. आप की side बहुत अच्छी और हेल्पफुल है please cng कार पर vidio बनाये उसके फायदे और नुकसान और
    उसके maintinance के visay में

Leave a Reply