कैशलेस की दिशा में एक ओर क़दम, हाईवे की तरह अब फ्यूल पंप भी होंगे फास्टलेन।

कहते है “कैश है तो ऐश है” पर अब बिना कैश भी होगा ऐश। जी हाँ पहले कार्ड पेमेंट, ऑनलाइन वॉलेट्स व अब फास्टलेन की सुविधा भी मिलेगी फ्यूल पम्पस पर।

देश में बीजेपी की सरकार आने के बाद से ही डिजिटल इंडिया की मुहीम शुरू हो गयी थी जिसका सबसे बड़ा हिस्सा भारत को स्किल व कैशलेस बनाने पर था। इसी दिशा में एक क़दम ओर बढ़ाते हुए भारत सरकार के हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HPCL) ने फास्टलेन और एजीएस ट्रांसैक्ट टैक्नोलॉजीस लिमिटेड (AGSTTL) से स्ट्रैटेजिक पार्टनरशिप की घोषणा की है। जिसके तहत अब फ्यूल स्टेशन्स/पंप पर भी फास्टलेन सुविधा द्वारा बिना कैश के इंधन मुहैया कराया जाएगा।

क्या है ये पार्टनरशिप ?

फास्टलेन AGS व हिंदुस्तान पेट्रोलियम के मध्य हुयी इस पार्टनरशिप के तहत कंपनी का लक्ष्य मुंबई में 1 लाख फास्टलेन फ्यूल टैग वाले पेट्रोल पंप मुहैया कराना है।

साथ ही हिंदुस्तान पेट्रोलियम अन्य शहरों में भी 200 से अधिक फास्टलेन फ्यूल पंप उपलब्ध करवाएगा।

क्या है Fastlane Fuel pump सुविधा ?

Fastlane fuel की सुविधा भी हाईवे पर उपयोग की जाने वाली कैशलेस सुविधा Fastag के समान है। इसमें RFID (Radio-frequency identification) तकनीक का उपयोग किया जाता है।

इसमें प्रत्येक वाहन का एक विशेष पहचान नंबर (Unique Identity Number) होता है। इसे RFID Tag भी कहते है। जिसे किसी ऑनलाइन वॉलेट (paytm,phone pay,mobikwik आदि), ऑनलाइन अकाउंट, क्रेडिट या डेबिट कार्ड के जरिये रिचार्ज किया जाता है।

ऐस में जब आपका Fastlane identification number टॉप-उप हो जाता है, आप इसका प्रयोग बिना कैश दिए फास्टलेन में बिना अधिक समय ख़राब करे फ्यूल भरवा सकते है।

RFID तकनीक द्वारा इस विशेष पहचान नंबर को खुद-ब-खुद स्कैन कर लिया जाता है, व फ्यूल भरवाने पर आपके अकाउंट से स्वत पैसे कट जाते है।

कैसे करे Faslane Fuel का उपयोग ?

Hindustan Petrolium Fastlane Fuel की सुविधा का उपभोग ऑनलाइन व मोबाइल एप्प द्वारा किया जा सकता है। जो दोनों ही androidiOS उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध है।

इसी के साथ इस app के द्वारा फ्यूल मैनेजमेंट व अपने आस-पास फ्यूल पंप ढूंढने में भी मदद मिलेगी।

आपको बता दे मुंबई रीजन में अब तक हिंदुस्तान पेट्रोलियम के कुल 18 फास्टलेन फ्यूल पंप बन चुके है जिनका उद्घाटन 1 जुलाई को किया जाना है।

Leave a Reply