Dashboard Warning Lights Explained !!

एक आम आदमी को अपनी कार से बेहद प्यार होता है और हो भी क्यों ना, अपनी मेहनत और खून पसीने की कमाई से वो अपनी जिंदगी में एक या दो बार गाड़ी लेता है। और हमेशा उसकी देखभाल करता है, साफ़ सफाई करता है उसकी टाइम पे सर्विस करवाता है। लेकिन इसके अलावा और भी ऐसी बातें हैं जिन्हे जानना जरूरी है। गाड़ी में बहुत सारे फंक्शन्स होते है और कई ऐसे फंक्शन्स और सिस्टम है जो अगर काम करना बंद कर दें तो वो आपके लिए या आपकी गाड़ी के लिए मुसीबत भी बन सकती है। जैसे की Brake , Airbag , Headlights, Cooling System आदि।

और यह भी सच है की गाड़ी को सिर्फ बाहर से देख कर कोई भी पता नहीं लगा सकता के ये सब काम कर रहें है या नहीं। और आज की आधुनिक तकनीक से बनी हुई गाड़ियों में काफी हद्द तक यह पता चल जाता है। गाड़ी का कंप्यूटर अपने आप पता लगा लेता है की गाड़ी या यह फंक्शन काम नहीं कर रहा उसमे सुधार की जरूरत है , और पता लगाने के बाद वह आपको एक संकेत दे देता है आपके Instrument Cluster या Dashboard में। उन संकेतों की बत्ती चालू हो जाती है, उन्हें Warning Light बोला जाता है जिससे आपको पता चल जाता है की गाड़ी में कुछ खराबी है और आप सावधान हो जाओ। लेकिन उन संकेतों का मतलब आपको पता होना चाहिए की कौनसा फंक्शन या सिस्टम काम नहीं कर रहा ताकि आप सही समय पर सही कार्यवाही कर पाएं और आपको कोई बड़ा नुकसान ना हो।

और इस पोस्ट में हम हमारे Instrument Cluster या Dashboard की लगभग सभी Warning Lights का मतलब समझेंगे ताकि हमें होने वाली समस्या का समय रहते पता चल जाए।

Warning Light के Color

Instrument Cluster या Dashboard में जो लाइट होती हैं उनमें से कुछ पीले/Yellow रंग की होती हैं और कुछ लाल/Red रंग की। लेकिन इनका मतलब क्या है?

Dashboard Warning Light
Dashboard Warning Light

Yellow Warning Light :-

अगर कोई Yellow Light वाला चिन्ह आपको दिखाई देता है और आपकी गाडी ठीक चल रही है तो आपको हड़बड़ाने और घबराने की जरूरत नहीं है। यह पीला रंग आपको संकेत देता है कि आपकी गाड़ी में कुछ छोटी गड़बड़ है और आपको जल्द से जल्द सर्विस सेण्टर में दिखाना है और रिपेयर करवाना है ताकि ये बाद में बड़ी परेशानी न बन जाए।

Red Warning Light:-

अगर Red/लाल रंग की बत्ती जलती है तो इसका मतलब है आपकी गाड़ी में कोई गंभीर समस्या है, अगर आप इसी हालत में गाड़ी चलाते हैं तो बहुत ही गंभीर समस्या हो जाएगी। ये रोकने का सन्देश है। अगर कोई लाइट ब्लिंक करती है तो इसका मतलब भी यही है।

हरी या नीली / Green Or Blue :-

इन लाइट का मतलब वह फंक्शन या सिस्टम ठीक से काम कर रहा है।

गाड़ी के डैशबोर्ड और इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर में कई वार्निंग लाइट होती हैं , तो आइये जानते हैं की किस लाइट का क्या मतलब होता है।

Brake System Warning Light :-

Brake System Light

यह लाइट तब जलती है जब आपकी गाड़ी में ब्रेक ऑइल ना हो , या आपका हैंडब्रेके लगा हुआ हो। आपकी गाड़ी के स्टार्ट होने के बाद ये लाइट बंद हो जानी चाहिए अगर नहीं होती तो इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें, इससे किसी की जान माल को नुकसान पहुँच सकता है।

Check Engine or Malfunction Indicator Light :-

Check Engine Light

आजकल हर गाड़ी में एमिशन को नियंत्रित, कंप्यूटर सिस्टम द्वारा किया जाता है। और इस सिस्टम से हमारे पर्यावरण को बहुत फायदा होता है। जब गाड़ी स्टार्ट होती है तब यह लाइट अगर चालू रहती है तो इसका मतलब यह है की इस सिस्टम में कुछ खराबी है और इसकी सर्विस करवाने की जरूरत है।

 Oil Pressure Low Warning Light :-

Low oil Pressure

अगर गाड़ी की चालू हालत में ये लाइट जल जाती है तो इसका मतलब इंजन के अंदर आयल का प्रेशर सही नहीं है। इस हालात में आपको तुरंत गाड़ी बंद करके सर्विस सेंटर या मैकेनिक को दिखानी है।

Charging System Light :-

Charging System

अगर जब गाड़ी का इंजन चालू हो और यह लाइट भी जली रहती है तो इसका मतलब गाड़ी का चार्जिंग सिस्टम काम नहीं कर रहा। गाड़ी को तुरंत चैक करवाएं।

 High Engine Coolant Temperature Warning Light :-

High Coolant Temperature

अगर चालू गाड़ी में ये लाइट जल जाती है तो इसका मतलब इंजन overheat हो रहा है। इस परिस्तिथि में गाड़ी न चलाएं। गाड़ी रोककर overheating का कारण पता करें। अगर आप गाड़ी चलाते हैं तो आपके इंजन में बहुत नुकसान हो सकता है।

Air Bag Warning Light :-

Air Bag Warning Light

ये लाइट अगर जली रहे तो यह ये संकेत देती है कि एयर बैग सिस्टम में कुछ कमी है।

Anti-lock Braking System Light :-

ABS Warning Light

इसका मतलब गाड़ी के एबीएस सिस्टम में कुछ दिक्कत है। लेकिन इस स्तिथि में गाड़ी के सामान्य ब्रेक काम करेंगे। अगर ABS Warning Light के साथ साथ Brake Warning Light भी चालू रहती है तो आपके ब्रेक सिस्टम में भी दिक्कत है। आप इस स्तिथि में गाड़ी बिल्कुल ना चलाएं।

Electric Power Steering Light :-

EPS Warning Light

इस लाइट के चालू रहने की स्तिथि में पावर स्टीयरिंग सिस्टम ठीक से काम नहीं कर रहा होता।

 Fuel Filter Warning Light :-

Fuel Filter Warning Light

यदि गाड़ी के चलते हुए यह वार्निंग लाइट भी चालू रहती है तो इसका मतलब आपके डीजल फ़िल्टर में पानी आ गया है और उसका निकास करना बहुत जरूरी है।

Open Door Warning Light :-

Door Open Warning

यह लाइट आपको गाड़ी के खुले हुए दरवाजे का संकेत देती है। जिससे गाड़ी चलने से पहले कोई दरवाजा खुला ना रह जाए।

Driver Seat Belt Reminder Light:-

Seat Belt Warning

अगर आप गाड़ी चलाने से पहले सीट बेल्ट लगाना भूल गए हैं तो यह लाइट आपको याद दिलाएगी। और ध्यान रहे गाड़ी चलाने से पहले हमेशा अपनी बेल्ट बाँध लें।

Tyre Pressure Low Warning Light :-

Low Tyre Pressure Warning

यह लाइट गाड़ी में हवा कम होने का संकेत देती है।

Service Due Light :-

Service Due Warning

इससे पता चलता है कि गाड़ी का सर्विस का समय आ गया है।

Low Fuel Warning Light :-

Low Fuel Warning

ईंधन काम होने पर यह लाइट आपको ईंधन भरवाने का संकेत देती है।

इसके अलावा भी बहुत सी वार्निंग लाइट देखने की मिलेंगी खासकर प्रीमियम गाड़ियों में , आमतौर पर इतनी डैशबोर्ड लाइट का ज्ञान होने से आप गाड़ी में होने वाली गंभीर समस्या से बच सकते हैं।

तो अगर आपके दिमाग में कोई ऐसी वार्निंग लाइट है और वो हम लिखना भूल गए हैं तो कमेंट में जरूर बताइयेगा।

12 COMMENTS

  1. मैंने तीन डीजल कार पंसद की है। होनडा सीटी2017, हुनडाई वेरना2017 ओर इनोवा कीस्टा ये तीन कार मैं से कोनसी कार ज्यादा अच्छी है, परफॉर्मेंस मैं, सीटीगं कमफोट मैं, मैन्टेनस मैं और रीसेल वेलयु और कोनसा वेरिएंट खरीदना चाहिए।

    सर, प्लीज़ जवाब दीजिए।

Leave a Reply