इंजीनियरिंग छात्रों के लिए सुनहरा मौका। भारत में पहली बार होगा “Shell Eco Marathon” का आगाज़

शेल पहली बार भारत में अपने मार्की इवेंट, शैल इको मैराथन (Shell Eco Marathon – SEM) को लाने जा रही है।

आपको बता दे SEM, 6 से 9 दिसंबर 2018 के मध्य चेन्नई में होने वाले मेक द फ्यूचर इंडिया का हिस्सा होगा। 

शेल का मेक द फ्यूचर फेस्टिवल, दुनिया भर के ऊर्जा से भरे चुनोतिकारो के मध्य वार्तालाप, सहयोग और इनोवेशन के लिए एक वैश्विक मंच है।

क्या है SEM (Shell Eco Marathon) ?

जिन पाठकों को यह ज्ञात नहीं उन्हें बता दे की SEM, दुनिया की सबसे बड़ी व पुरानी प्रतियोगिताओं में से एक है जिसकी शुरुआत 1939 में की गयी थी।

SEM इंजीनियरिंग के छात्रों के मध्य एक अपनी योग्यता दर्शाने का एक मंच है जहा इंजीनियरिंग छात्रों को fuel efficient कारों के डिजाइन, निर्माण और परीक्षण करने के लिए चुनौती दी जाती है।

भारतीय टीम 2010 से SEM के इस प्रतियोगिता में सक्रिय है, लेकिन यह पहली बार है जब प्रतियोगिता भारत में ही आयोजित की जाएगी।

साथ ही यह छात्रों के लिए Shell Eco-marathon Asia 2019 में भाग लेने हेतु एक तैयार हो जाने का अवसर भी है।यह उनके कौशल को प्रदर्शित करने, एक विश्व स्तरीय अनुभव का हिस्सा बनने और रेसिंग सर्किट पर अपने प्रतिस्पर्धियों के साथ अपने वाहनों को चलाने के लिए एक महान मंच होगा।

ट्रैक टीम में आने वाली छात्र टीमों का मूल्यांकन, कम से कम फ्यूल ख़पत पर सबसे दूर जाने के मानदंडों पर किया जाएगा।  

SEM में अब तक भारत की उपलब्धियाँ।

आपको ये भी बता दे भारतीय छात्रों ने अब तक SEM में कई innovative व energy efficient मॉडल और प्रोटोटाइप का प्रदर्शन किया है जिन्होंने उद्योग और सरकार का भी ध्यान आकर्षित किया है।

इनमे team Averera (IIT BHU) का एक लिटिर में 350 Kms फ्यूल एफिशिएंसी वाला light weight 3-व्हीलर electric vehicle with customized motor controller, team ingenious (Sir M Visvesvaraya Institute of Technology, Bengaluru) की एक लिटिर में 100 kms से भी अधिक माइलेज देने वाली 100cc मोटरबाइक तथा team BITS Pilani की कचरे से निर्मित ethanol फ्यूल powered car प्रमुख है।

इस मौके पर शैल भारत के चेयरमैन नितिन प्रसाद ने कहा की, “हमने पिछले कुछ सालों में टीमों के SEM के प्रति बढ़ते रुझान, गुणवत्ता, मात्रा व सरलता में वृद्धि देखी है। जो की इस वैश्विक प्रतियोगिता को भारत में शुरू करने के पीछे हमारी प्रेरणा बनी ताकि अधिक टीमें इस अद्वितीय मंच में भाग लेने और लाभ उठाने का अवसर पा सके। 

हम मानते हैं कि ये उज्ज्वल युवा दिमाग, भविष्य को वास्तव में प्रभावित करने की क्षमता रखते है। और मैं सकारात्मक हूं कि हम साझेदारी और इनोवेशन के माध्यम से बेहतर कल के लिए अधिक और स्वच्छ ऊर्जा समाधान प्रदान करने में सक्षम होंगे। “

 प्रतियोगिता में भाग लेने वाले इच्छुक छात्रों के लिए – SHELL ECO-MARATHON INDIA Registration & Guidelines

 

Leave a Reply